Wednesday, October 26, 2016

Darkness

Beguilement only in  Lustrous , not in Darkness. So close your eyes and feel , everything you have which you want throughout the World

Tuesday, October 25, 2016

Dialogue

हम दर्द में क्या डूबे, जमाने ने हमें डूबती हुई कश्ती की तरह छोड़ दिया।पर याद रखना मेरे दोस्त,वक्त बदलता है और डूबती कश्ती भी किनारा मिल जाता है ।

तुझे देखकर दिल को तसल्ली हुई है

https://youtu.be/-CeTR_GQc3c

Friday, October 14, 2016

Chal Diya Dur main kahi

https://youtu.be/e4W_LRU6tJw

Tuesday, October 11, 2016

The Pregnant Mind

            pregnant mind
All people have some dreams in Their  mind.
And every person have a Opportunity to fulfill their dreams because its our birthright.
Our mine is just like a Womb and our dreams is just like a Kiddy and we just like
a pregnant mum.
So it's our responsibility how can we save our dream,how we to fulfill our dreams.
For mum not easy  to keep the child  nine months in the womb, but ,she keep nine months,because she love their Kiddy and she Sincerely want for fullfill her dreams.
For Kiddy ,she struggles nine months Without the lose courage and  after nine months ,her  hard work brings a good news that, she mother has become.
Nine months not easy for her ,but ,she struggles every time for fullfill her dream and she get success.
Somethings she failed ,it painful for her ,but she  did not dare lose and try again for her dream and one day she get success.
So, if we have a dreams then we try without losing our dare to fulfill our dreams.


Sunday, October 9, 2016

Poetry

वह वादे करते गया और मैं विश्वास करती गई, एक दिन मुझे भूलने का वादा कर गया ,अब बताओ मैं क्या करूं

Thursday, October 6, 2016

Life is not a play

जिंदगी खेल नहीं ,फिर भी लोग खेलने का शौक रखते हैंl
हमें तो बस दर्द चाहिए , आवाज खुद बना लेते हैं ।
हम तो परदेसी हैं जनाब, रास्ते बताओ या ना बताओ ,रास्तों पर चलने का हुनर तो हम जानते ही हैं, रही बात मंजिल की ,वो भी कहीं मिल ही जाएगी।

बेजुबान

बेजुबान लव्जों को अल्फाज दे दो,
जिंदगी के कोई किस्सा अधूरा ना रह जाए, जिंदगी में बस एक ख्वाब दे दो, कहीं लब्ज टूट कर बिखर ना जाए,
बिखरे बिखरे लव्जों को आवाज दे दो
         By Arti Gupta

Monday, October 3, 2016

सबूत मांगने वालों ,यह लो सबूत

*********सबूत मांगने वालों ,यह लो सबूत*********
सबसे पहली बात   - सर्जिकल स्ट्राइक हमें ऐसे कचड़ो को साफ करने की इजाजत देती है ,जो विश्व समाज के लिए  खतरनाक  है। और हमारे देश के द्वारा पाकिस्तान में   सर्जिकल स्ट्राइक का    केवल एक ही उद्देश्य आतंकवादी जैसे कचड़ो को साफ करना, और हमारे देश के जवानों ने वह किया भी ।
 लेकिन कुछ लोगों को सबूत चाहिए ।
यह तो पूरी दुनिया जानती है कि पाकिस्तान में आर्मी कौन है और आंतकवादी कौन है ,अगर आर्मी के ड्रेस में है तो आर्मी है और आर्मी के ड्रेस नहीं है तो आंतकवादी है
यानी हमारा कहने का अर्थ यह है कि वहां की आर्मी भी आंतकवादी है और आंतकवादी भी आर्मी  है ,अर्थार्थ जब वहां के जवान आर्मी के कपड़ा और बंदूक ले लेते हैं तो आर्मी हो जाते हैं और आर्मी का कपड़ा ना पहनकर बंदूक उठा लेते हैं तो आंतकवादी हो जाते हैं।
अब पाकिस्तान में कौन मारा गया यह तो पाकिस्तान को ही पता होगा।
 हमारे देश के वीर जवानों ने तो आंतकवादियों का सफाया किया है, हो सकता है पाकिस्तान के लिए ये आर्मी हो ।

और पाकिस्तान  कह भी कैसे सकता है कि भारत ने हमारे देश में सर्जिकल स्ट्राइक  किया है ,क्योंकि वह हमेशा यह पूरी दुनिया के सामने कहता है कि हम आंतकवादियों को पनाह नहीं देते हैं ,हमारे देश में कोई आंतकवादी कैंप नहीं है ,और अगर वह कबूल करता है कि हमारे देश में आंतकवादी  कैंपो  पर भारत द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक किया गया है ,तो, उसे दुनिया को जवाब देना  होगा "जब आप आंतकवादियों को शरण देते ही नहीं है  तोो भारत में आप पर  सर्जिकल स्ट्राइक क्यों किया ।
हमारे  अनुसार से, पाकिस्तान बार-बार सबूत इसलिए लिए मांग रहा हैकी, पूरी दुनिया यह देख सके की ,सर्जिकल स्ट्राइक में कौन मरा है ,अगर सबूत में आर्मी के ड्रेस में आंतकवादी मरते हुए दिखाया गया तो ,पाकिस्तान पूरी दुनिया के सामने  चिल्ला-चिल्लाकर यह कहेगा कि, देखो भारत ने हमारे आर्मी को मार दिया ।
हो सकता हैकि  पाकिस्तान के चाहने वाले देश हमारे देश पर अंगुलियां उठाए ।
अतः पाकिस्तान बार-बार सबूत की मांग इसलिए कर रहा है

Saturday, October 1, 2016